One Time Password क्या है: यूज़ कहाँ, उपयोग क्यों और फायदे

One Time Password क्या है: यूज़ कहाँ, उपयोग क्यों और फायदे

मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर उपभोक्ता कभी न कभी पुष्टी कोड One Time Password क्या है यूज़ ऑनलाइन किसी भी काम के लिए क्या होगा? तो इस लेख पर हमने एक समय कुंजिका बारे में पूरी जानकारियां उपलब्ध कराया गया है.

नमस्कार दोस्तों, स्वागत करता हूँ आज के इस पोस्ट में ओने टाइम पासवर्ड (ओ.टी.पी.) क्या है के बारे में जानेंगे. आजकल हम ज्यादातर काम ऑनलाइन करते हैं. चाहे वह कोई ऑनलाइन ट्रांजैक्शन हो, मोबाइल रिचार्ज हो, शॉपिंग के बाद भुगतान हो या हम किसी भी तरह का ऑनलाइन अकाउंट खोलते हों, उसमें भी ओटीपी का इस्तेमाल जरूर होता है.

ओटीपी ज्यादातर मैसेज के जरिए भेजा जाता है क्योंकि सभी मोबाइल हैंडसेट में मैसेजिंग की सुविधा होती है.

आइए जानते हैं कि यह क्या है और इसका इस्तेमाल क्यों किया जाता है. इसके साथ ही हम यह भी जानेंगे कि इसके क्या फायदे हैं और इसका इस्तेमाल कहां होता है.

वन टाइम पासवर्ड क्या है:-

One Time Password क्या है?

One Time Password ओटीपी एक सुरक्षा कोड है जो ज्यादातर 6 अंकों का होता है. इसका फुल फॉर्म – One टाइम पासवर्ड से पता चलता है कि इसे सिर्फ एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है. साथ ही ओटीपी वेरिफिकेशन का एक तरीका है जिससे यह साबित होता है कि आप वह काम कर रहे हैं जिसके लिए ओटीपी आ रहा है, कोई और नहीं कर रहा है.

सरल भाषा में कहें तो यह एक ऐसा पासवर्ड होता है जो कंप्यूटर या किसी अन्य डिवाइस पर एक निश्चित समय के लिए वैध रहता है और समय सीमा समाप्त होने के बाद आप इसका उपयोग नहीं कर सकते हैं.

ऑनलाइन अकाउंट के लिए आप जो ओटीपी बनाते हैं, वह उससे बिल्कुल अलग होता है, इसलिए अगर कभी आपका पासवर्ड चोरी हो जाता है या किसी को आपके पासवर्ड के बारे में पता चल जाता है, तो बिना ओटीपी के भी वह आपके अकाउंट में लॉग इन नहीं कर सकता क्योंकि ओटीपी तब आपके रजिस्टर्ड में मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी आएगा.

सरकारी ऑफिसर कैसे बने

ओटीपी का यूज़ कहाँ होता है?

ओटीपी का यूज़ इस्तेमाल ज्यादातर ऐसी जगहों पर किया जाता है, जहां किसी दूसरे व्यक्ति से आपकी निजी जानकारी को खतरा हो सकता है. इसका सबसे अच्छा उदाहरण इंटरनेट बैंकिंग और ऑनलाइन लेनदेन है.

आज इन दोनों सुविधाओं का बहुत उपयोग किया जा रहा है, इसीलिए इसमें ओटीपी को अनिवार्य कर दिया गया है, ताकि आपका पैसा सुरक्षित रहे और केवल आप ही इसका उपयोग कर सकें.

व्हाट्सएप में भी लॉग इन करते समय मोबाइल में एसएमएस के जरिए एक ओटीपी आता है. आजकल Google खाते में भी 2-चरणीय-सत्यापन लागू कर दिया गया है ताकि आपके अलावा कोई और लॉग इन न कर सके या आपके Google खाते में परिवर्तन न कर सके.

इनके अलावा, सभी ई-कॉमर्स वेबसाइट जैसे Amazon, Myntra, eBay, Snapdeal, Flipkart और डिजिटल वॉलेट प्रदान करने वाली कंपनियां जैसे Phonepe, Mobilkwik, Paytm आदि OTP सुविधा का उपयोग करती हैं ताकि सभी Costomers के ऑनलाइन खाते सुरक्षित रहें.

ओटीपी का उपयोग क्यों किया जाता है?

तकनीकी क्षेत्र में दुनिया के विकास के साथ-साथ कुछ लोग गलत कामों के लिए भी इंटरनेट और कंप्यूटर का इस्तेमाल करने लगे. ऐसे गलत काम को साइबर क्राइम कहते हैं. इसलिए ऐसे साइबर अपराधों को कम करने के लिए ओटीपी का इस्तेमाल किया जाता है.

ज्यादातर लोग जो ऑनलाइन अकाउंट के लिए अपना मनचाहा पासवर्ड बनाते हैं, फिर उसमें अपना नाम या डेट ऑफ बर्थ डाल देते हैं या एक साधारण पासवर्ड बना लेते हैं जिसे वे आसानी से याद रख सकें.

लेकिन यह आसान सा पासवर्ड आपके ऑनलाइन अकाउंट के लिए खतरा बन सकता है और आपका अकाउंट पूरी तरह से सिक्योर नहीं है इसीलिए इसे ओटीपी की मदद से और सिक्योर बनाया जाता है. क्योंकि ओटीपी आपके द्वारा बनाए गए पासवर्ड से बिल्कुल अलग होता है और हर बार अलग-अलग क्रम में जेनरेट होता है.

OTP क्या है और कहाँ से आता है?

अब बात आती है कि ये ओटीपी कहां से आते हैं और कौन भेजता है. सभी उपकरणों के लिए कुछ प्रमाणीकरण सर्वर हैं.

OTP के फायदे?

Advantages of OTP in Hindi सुरक्षा बढ़ाने के लिए: जब हम ओटीपी का उपयोग करते हैं, तो यह हमारी सुरक्षा की परत को बढ़ाता है क्योंकि यह केवल पंजीकृत मोबाइल नंबर में आता है, इसलिए हम ही जानते हैं। इसकी मदद से आपका ऑनलाइन अकाउंट और भी सिक्योर हो जाता है क्योंकि अगर किसी को आपका पासवर्ड मिल भी जाता है, लेकिन बिना ओटीपी के वो लॉग इन नहीं कर पाएगा.

आसान सेटअप ओटीपी सेवा: ओटीपी को कुछ साइटों में टू-स्टेप-वेरिफिकेशन भी कहा जाता है और इसे सेट करना बहुत आसान है. आपकी व्यक्तिगत जानकारी वाली अधिकांश साइटों में पहले से ही यह सक्षम है और यदि ऐसा नहीं है, तो आप इसकी सेटिंग में जाकर फ़ोन को सत्यापित करने के बाद इसे सक्षम कर सकते हैं.

उपयोगकर्ता प्रमाण: ओटीपी इस बात का प्रमाण प्रदान करता है कि आप किसी साइट या खाते पर वह गतिविधि कर रहे हैं जिसमें आप लॉग इन करना चाहते हैं या कोई ऑनलाइन लेनदेन कर रहे हैं. इसके अलावा जब भी ओटीपी आता है तो उसमें लिखा होता है कि उसे किसी के साथ शेयर न करें क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि कोई हमें बताए बिना ही हमारे अकाउंट में लॉग इन करने की कोशिश करता है लेकिन जरूरी नहीं कि उसका ओटीपी भी पास हो. लॉगिन करने में विफल रहेगा.

इसके साथ ही कई बार इनवैलिड एक्टिविटी होने पर अचानक टू-स्टेप-वेरिफिकेशन का ऑप्शन भी आ जाता है. ऐसे में आप ओटीपी के जरिए वेरिफाई करने के बाद ही अकाउंट का इस्तेमाल कर पाएंगे.

हैकिंग से सुरक्षा: यह ओटीपी की सबसे अच्छी विशेषता है कि हमें हैकिंग से सुरक्षा मिलती है क्योंकि हैकर आपके उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड को किसी भी तरह से निकाल सकता है, उसके पास इस काम के लिए कई उपकरण हैं लेकिन ओटीपी पहले से ही सेट है. नहीं, ओटीपी हर बार अलग आता है इसलिए वह आपके ओटीपी का पता नहीं लगा सकता.

Random Algorithm: सभी प्रकार के OTP सिस्टम Random Algorithm पर काम करते हैं यानि एक बार OTP आ गया और हमने लॉग इन कर लिया लेकिन जब हम दूसरी बार लॉग इन करने जाते हैं तो इस बार क्या OTP आएगा कोई नहीं बता सकता इसका फायदा यह है अगर किसी को गलती से ओटीपी पता चल गया तो वह दूसरी बार नहीं जान पाएगा.

कॉल के दौरान नहीं आता ओटीपी: अगर आपने कभी गौर किया होगा तो आपको पता होगा कि कॉल के दौरान ओटीपी नहीं आता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हो सकता है कि किसी ने कॉल के जरिए आपका मोबाइल हैक कर लिया हो और जो भी मैसेज आपको मिलता है वह सीधे उसके पास जाता है – ऐसा भी होता है. इसलिए कॉल के दौरान ओटीपी नहीं आता है.

ओटीपी सुविधा बिल्कुल मुफ्त: आपको अपने किसी भी खाते के लिए मुफ्त में ओटीपी की सुविधा मिलती है, इसके लिए आपको कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ता है. इसलिए इसका इस्तेमाल जरूर करें.

OTP कोड कुल कितने संख्या की होती है?

OTP कोड की संख्या अक्सर 6 होती है.

उपसंहार:

ओटीपी से जुड़ी लगभग सारी जानकारी हमने आपको बता दी है, अब आप समझ ही गए होंगे कि ओटीपी क्या है और इसके इस्तेमाल से क्या फायदे होते हैं, लेकिन यह सब जानने के बावजूद कुछ लोग स्पैम कॉल या मैसेज के जाल में फंस जाते हैं. जिससे उनका सारा पैसा निकल जाता है.

क्या आप टॉप बेस्ट लाइक इट ब्लॉग पढ़ना चाहते है तो नीचे दिए गए डाउनलोड नाउ के बटन पर क्लिक करें.

ध्यान दें: डाउनलोड बटन को अनलॉक करने के लिए व्हाट्सएप पर शेयर कीजिए

One Time Password क्या है: यूज़ कहाँ, उपयोग क्यों और फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top