Vigyapan Kya Hai | आइए जाने इसके प्रकार और उदाहरण

Vigyapan Kya Hai | आइए जाने इसके प्रकार और उदाहरण

दीवार, टेलीविजन और न्यूज़ पेपर आदि में मौजूद वीडियो या पोस्टर Vigyapan Kya Hai के उदाहरण है. विज्ञापन एक विपणन संचार जो कोई समान, सेवा या विचार को बढ़ावा देने अथवा बेचने हेतु किया जाता है.

आज के इस पोस्ट में आप विज्ञापन से संबंधित विकीकोश अपडेट अवगत हो जाएंगे. अब बिना देर किए हम अपने विज्ञापन का यह लेख (What is Advertisement in Hindi) प्रारंभ करते हैं. क्या आपने कभी सोचा है कि विज्ञापन की शुरुआत कैसे हुई होगी? फिल्मों के अंदर टीवी सीरियल्स के बीच में कुछ विज्ञापन कई बार देखे जाते हैं, अगर यूट्यूब पर देखा जाए तो 5 सेकंड/ 10 सेकंड के विज्ञापन तो कभी 30 सेकंड के भी विज्ञापन देखे जा सकते हैं.

तो हम इस लेख में इन सभी सवालों के जवाब जानेंगे और साथ ही यह समझने की कोशिश करेंगे कि विज्ञापन हमारे दैनिक जीवन को कैसे प्रभावित करता है.

Google Bot क्या है: बेसिक से एडवांस जानकारी

विज्ञापन क्या है:-

What is Advertisement in Hindi: विज्ञापन बिक्री की कला का एक नियंत्रित जन माध्यम है जिसके माध्यम से उपभोक्ता को विज्ञापनदाता की इच्छा के साथ सोचने, सहमत होने, कार्य करने या व्यवहार करने के इरादे से दृश्य और श्रव्य जानकारी प्रदान की जाती है. इरादा यह है कि विज्ञापन उत्पादित उत्पाद को लोकप्रिय बनाने और उसे आवश्यक महसूस कराने का काम करता है.

विज्ञापन के माध्यम से हर जगह एक ही समय में कई जगहों पर मार्केटिंग की जा सकती है. इसलिए किसी भी तरह की मार्केटिंग के लिए विज्ञापन एक बहुत अच्छी प्रक्रिया है.

विज्ञापन किसी भी प्रकार का हो सकता है, जैसे ऑडियो के रूप में, सैटेज के रूप में या वीडियो के रूप में और ऑडियो के रूप में (जैसे रेडियो में) किसी भी व्यक्ति या किसी कंपनी द्वारा किए गए विज्ञापन. ताकि वह अपने सामान या किसी भी तरह के उत्पाद की मार्केटिंग कर सके और अपने उत्पाद को बेच सके.

विज्ञापन का उद्देश्य:-

आज तकनीकी विकास ने दुनिया भर के लोगों को एक दूसरे के करीब ला दिया है, दूरी का कोई मतलब नहीं है, इन सब कारणों ने मनुष्य को और अधिक महत्वाकांक्षी बना दिया है, आज के बाजार प्रधान समाज में उपभोक्तावादी संस्कृति का दबदबा बढ़ता जा रहा है,

ऐसे में उपभोक्ता, समाज और उत्पादन के बीच संबंध स्थापित करने का कार्य विज्ञापन है. उत्पादक के लाभ से उपभोक्ता की इच्छाओं को पूरा करने और उत्पादित उत्पाद के उपयोग का मार्ग प्रशस्त करने का कार्य विज्ञापन को पहचान देता है. ऐसे में विज्ञापन का महत्व सर्वविदित है.

पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री विलियम ग्लैडस्टोन ने विज्ञापन के महत्व को रेखांकित करते हुए एक बार कहा था – व्यापार में विज्ञापन का उतना ही महत्व है जितना उद्योग में भाप की शक्ति के आविष्कार का. विंस्टन चर्चिल ने इसकी आर्थिक उपयोगिता के महत्व की वकालत करते हुए कहा कि टकसाल को छोड़कर कोई भी विज्ञापन के बिना पैसा नहीं बना सकता है.

क्लास में सबसे सुंदर कैसे दिखे

विज्ञापन के प्रकार:-

तमाम आलोचनाओं के बावजूद, विज्ञापन हमारे जीवन स्तर को सुधारने और उत्पादन बढ़ाने का एक प्रभावी माध्यम है. आज हम विज्ञापन युग की सीमा पर आ गए हैं. सार्वजनिक जागरूक कलात्मक विज्ञापन को भी प्राथमिकता दी जानी चाहिए, विज्ञापन को उत्पादित उत्पाद को बेचने या बढ़ावा देने की कला के सीमित उद्देश्य के रूप में नहीं.

आज के समय में विज्ञापन के कई रूप हमारे सामने आते हैं. इन्हें निम्न प्रकारों में रखा जा सकता है:

सूचनात्मक विज्ञापन: 

इस प्रकार का विज्ञापन सूचना के प्रसार और व्यावसायिक अभिव्यक्ति के रूप में आता है. इसके साथ ही इन विज्ञापनों का उद्देश्य आम जनता को शिक्षित करना, जीवन स्तर को ऊपर उठाना, सांस्कृतिक बुद्धिमत्ता और आध्यात्मिक प्रगति करना है. सामुदायिक विकास, सुधार, अंतर्राष्ट्रीय सद्भाव, वन्यजीव संरक्षण, यातायात सुरक्षा आदि के क्षेत्रों में आम जनता की बेहतरी के लिए जानकारी प्रदान करके जागरूकता पैदा करता है.

कॉपीराइट फ्री काइन मास्टर एपीके प्रो डाउनलोड

प्रेरक विज्ञापन (Persuasive Advertising) : 

विज्ञापन के माध्यम से जनता या उपभोक्ता तक पहुंचना, उन्हें आकर्षित करना, उन्हें लुभाना, उत्पाद की प्रतिष्ठा और उसका मूल्य स्थापित होता है. इस प्रकार का विज्ञापन निर्माता द्वारा तब प्रसारित किया जाता है जब उसका उद्देश्य ग्राहकों के मन में अपनी वस्तु का नाम स्थापित करना होता है और यह अपेक्षा की जाती है कि ग्राहक इसे खरीदेगा. विज्ञापन विभिन्न माध्यमों के आधार पर विशिष्ट उपभोक्ताओं को अपने उद्देश्य के लिए मनाने का प्रयास करता है.

संस्थागत विज्ञापन: 

संस्थागत विज्ञापन वाणिज्यिक संस्थानों द्वारा प्रकाशित और प्रचारित किए जाते हैं. बड़े उद्योग समूह, अंतर्राष्ट्रीय या राष्ट्रीय स्तर की कंपनियाँ आदि संस्थाओं के रूप में विज्ञापन प्रस्तुत करके राष्ट्रीय हित से संबंधित जनमत बनाते हैं. विज्ञापन की सामग्री सख्ती से लोगों के कल्याण से संबंधित है. लेकिन इसमें स्व-विज्ञापन भी शामिल है.

डिप्टी कलेक्टर क्या होता है

वित्तीय विज्ञापन: 

वित्तीय विज्ञापन मुख्य रूप से अर्थ से संबंधित है, उपभोक्ताओं को निवेश के लिए प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न कंपनियों द्वारा अपने शेयर खरीदने से संबंधित विज्ञापन इस श्रेणी के अंतर्गत आते हैं, कभी-कभी कंपनी अपने आय व्यय, अपनी वित्तीय स्थिति की ताकत से संबंधित विवरण देती है.

औद्योगिक विज्ञापन: 

औद्योगिक विज्ञापन कच्चे माल, उपकरण आदि की खरीद बढ़ाने के उद्देश्य से किया जाता है. इस प्रकार के विज्ञापन मुख्य रूप से औद्योगिक प्रक्रियाओं में प्रमुखता से प्रकाशित होते हैं, ऐसे विज्ञापनों का मुख्य उद्देश्य आम आदमी को आकर्षित करना नहीं है. अन्यथा, औद्योगिक क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों, प्रतिष्ठानों और निर्माताओं को उनकी ओर आकर्षित करना होगा.

वर्गीकृत विज्ञापन: 

इस प्रकार के विज्ञापन बहुत संक्षिप्त और कम खर्चीले होते हैं. शोक, ज्योतिष, विवाह, बधाई, खरीद-बिक्री, आवश्यकता, नौकरी, वर-वधू आदि से संबंधित ऐसे विज्ञापन समाचार पत्र में प्रकाशित होते हैं.

अन्य विज्ञापन: 

विकिपीडिया इन हिंदी फ्री डाउनलोड

इस प्रकार के विज्ञापनों के अतिरिक्त कुछ अन्य प्रकार के विज्ञापन भी दिखाई देते हैं.

(ए) प्रेस्टीज विज्ञापन: जनमत या जनमत बनाने के उद्देश्य से एक चुनावी घोषणापत्र का विज्ञापन किया जाता है, जिसे सम्मानजनक विज्ञापन की श्रेणी में रखा जाता है.

(आ) स्मृति चिन्ह विज्ञापन : किसी भी सांस्कृतिक कार्यक्रम, समाज सेवा संगठन आदि द्वारा आयोजित कार्यक्रम के अन्तर्गत स्मारिका का प्रकाशन किया जाता है जिसमें प्रायः अधिक सहायता के रूप में विज्ञापन प्रकाशित होते हैं. ये विज्ञापन संगठन के परिचय, संगठन के प्रमुख कार्यक्रमों, संगठन के पदाधिकारियों के विवरण आदि के साथ प्रकाशित किए जाते हैं.

विज्ञापन के कार्य:-

1. विशेष छूट आदि की जानकारी देकर उपभोक्ता मांग को बढ़ाना.
2. विज्ञापन अन्य उत्पाद कंपनियों के उत्पादन के बारे में तुलनात्मक जानकारी देता है.
3. बाजार में उत्पादन कंपनियों को स्थिरता प्रदान करता है.
4. वस्तु को स्वीकार करने, अपनाने और खरीदने की प्रेरणा.
5. नई वस्तुओं और सेवाओं की रिपोर्टिंग.
6. वस्तुओं के बारे में उपभोक्ताओं में रुचि और विश्वास पैदा करना.
7. किसी चीज की उपयोगिता और श्रेष्ठता बताकर लोगों का ध्यान उसकी ओर आकर्षित करना.
8. उपभोक्ताओं की याददाश्त को प्रभावित करना.

क्या आप Top Best People Like It Blog पढ़ना चाहते है तो नीचे दिए गए डाउनलोड के बटन पर क्लिक करें.

ध्यान दें: डाउनलोड बटन को अनलॉक करने के लिए व्हाट्सएप पर शेयर करें

कार्तिक आर्यन बायोग्राफी

Leave a Comment