RAM Aur Rom Kya Hai? रैम और रोम में अंतर

प्रिय दोस्तो नमस्कार आज हम बात करेगें कम्प्यूटर और मोबाईल के IMPORTANT PART RAM Aur Rom Kya Hai? रैम और रोम में क्या अंतर है ? जोकि इस पार्ट के बिना कोई भी कार्य संभव नही हैं क्योकि इस पार्ट के ही रहने से सारे नेट से जुड़ी कार्य हो सकती हैं। रैम और रोम कम्प्यूटर व मोबईल के दो मुख्य मेमोरी हैं आप लोगो को बता दे की फोन व कम्प्यूटर खरीददारी के दौरान हम सोच में पड़ जाते है कि कौन सी मेेमोरी ज्यादा चलेगी व ज्यादा काम करेंगे.

RAM Aur Rom Kya Hai

किस मेमोरी को किस device अर्थात मोबाईल या कम्प्यूटर पर डाल सकते है ताकि हमार जो भी device है ओ अच्छे ढ़ंग से चल सके और यह मेमोरी किस डिवाइस में कितना कार्य करता है हम इसके अंतर में पूरी जानकारी पायेगे रैम और रोम के अंतराल में पूरी जानकरी हैं।

रैम क्या हैं?

दोस्तो आज हम रैम के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है जो Androite मोबाईल व स्मार्टफोन वाले है ओ भली भाॅति परिचित हैं कि वह कि उनके मोबाईल में कितना रैम है और यह रैम कितना मेरे मोबाईल में सह सक्सेस है ओर मैं जिस एप्प को डाऊनलोड करते हैं वह मेरे मोबाईल में अच्छा से चल पायें ।

और यहाॅ डिवाईस कम्प्यूटर में भी बेहद महत्वपूर्ण हैं क्योकि इसके बिना कम्प्यूटर व मोबाईल का कोई कार्य काम ही नही होता है।

रैम का Full Form होता है Rendom Acces Memory होती है जो कि इस मेमोरी का इस रैम का मुख्य व साधारण उदाहरण है आप अगर ऑफिस में बैठे है तो आपको फाइल चाहिए होगी दूसरे और वह फाइल दूसरे कमरे में रखी हुई है।

और अगर आपको काम करना है तो आपको दूसरे कमरे से ले आयेंगे और फिर उसे डेस्क पर रखकर काम करने लग जायेंगे इस प्रकार से एक उदाहरण है। इस तरह वह कार्य करता हैं एक GB RAM को बनाने में जितना खर्च होता है उतना खर्चा 16 GB Ram बनाने में कम्प्यूटर में एक संकेत व Diretion देने वाला होता है वो

CPU जो कि कोई भी हम Moniter पर Diretion देते है वहा सीधा CPU को काॅमान करता हैं जो कि CPU रैम के अनुसार वहा कार्य करता हैं जब हम किसी गेम को स्टाॅल करते हैं तो रैम में स्टाॅल नही बल्कि फोन में इंटरनल स्टाॅल होता है । जब हम सी.पी.यू. पर बहुत ही आदान प्रदान इन्फार्मेषन होता है जो कि हम रैम में कोई भी बड़ी एप स्टाॅल कर देते तो वहाॅ अच्छे ढ़ंग से नही चलते हैं और वहा HANG करता हैं।

रैम का फुल फार्म क्या हैं ?

Rendom Acces Memory (RAM) होती है जो मेमोरी इसके बारे में पूरी जानकरी हो गई है अब हम जानेंगे की रैम कितना जरूरी है क्योकि मोबाइ्रल व कम्प्यूटरो में धीर-धीरे एप्प का आकार भी बढते जा रहे है तो मोबाईल APP- में आज कल लगभग 2 GB Ram का होना बहुत जरूरी हैं जा रैम को बढाया नही जा सकता है कम्प्यूटर में रैम बढ़ाया जा सकता है किन्तु मोबाईल में रैम बढाया नही जा सकता है।

रैम और रोम क्या है ?

आज पुरे आधुनिक का युग है जो कि हर वयक्ति के पास स्मार्टफोन का होना जरूरी हो गया हैं जो कि आदमी जल्द से जल्द किसी भी सेवा का लाभ तुरंत एवं नजदीकी सेवा चाहता हैं जैसे की किसी एक स्थान से दूसरे स्थान किसी डाकूमेंट को भेजना है तो वहा सिर्फ स्मार्टफोन में व्हाट्सअप में भेज सकते हैं।

रोम क्या होती हैं?

रोम का Full Fom ( READ ONLY MEMORY) होता है और इसे प्राइमरी ममोरी भी कहते हैं यह हमेशा डाटा को save करके रखती हैं हम जो कम्प्यॅटर पर जो डारेक्षन कि जाती हैं यह रोम रैम की अपेक्षा में बहूत ही बढिया progress करती हैं जो भी हम जेसे की GAME, MUSIC, PICTUER APPLICATION FILE इत्यादी रोम मेमोरी में dounlaod करतें हैं।

असल में हम बात करें तो कम्प्यूटर व मोबाईल पर किसी कार्य RAM व ROM की आवश्यकता होती हैं।

प्राईमेरी एंड सेकेण्डरी मेमोरी में अंतर

प्राईमेरी मेमोरी RAM) Memory को कहते हैं जो की (ROM) Memory अर्थात Read Only Memory को कहते हैं रोम सारा डाटा सेव होकर रहता हैं जैसे GAME, MUSIC, PICTURE APPLICATION video, audio and file करते हैं।

RAM) Memory में बहुत कम Information डाटा सेव रखती हैं कम्प्यूटर से मोबाईल से डाटा की Capacity (क्षमता) बहुत कम होती हैं। प्राईमेरी मेमोरी में CPU से सीधे-सीधे जानकारी प्राप्त करते हैं जबकि सेकेण्डरी मेमोरी से सीधे-सीधे जानकारी प्राप्त नही कर सकते हैं।

प्राईमेरी मेमारी में इसमें कम मात्रा में उपयोग में लाया जाता हैं Secondary Memory में रोम मेमोरी में बहुत ज्यादा मात्रा में उपयोग किया जाता हैं ।

Secondary Memory (ROM) में Bite का मुल्य कम होता है। जबकि RAM) Memory में Bite का मुल्य कम होता है। RAM) Memory में प्राईमेरी मेमोरी में रेन्डम एक्सेस कम होती हैं।  (ROM) सेकेन्डरी मेमोरी में इसकी रेन्डम एक्सेस बहुत ज्यादा होती हैं।

FIR क्या है? Online FIR दर्ज कैसे करें

रैम मेमोरी में किसी भी फोटो,विडियो, इमेज ,आडियो आदि एप्प से इसकी क्षमता बहुत कम होती हैं।
रोम मेमोरी में फोटो,विडियो, इमेज ,आडियो कोई भी डाकूमेन्ट फाईल को आप अच्छी तरह से आप अपलोड कर सकते है Memory में आप छोटे से छोटे डाकूमेन्ट को अपलोड कर सकते है।

(ROM) Memory को आप कम्प्यूटर हो या मोबाईल पर कोई भी डाकूमेंट हो कोई भी विडियो,आप अपने सिस्टम में या फिर मोबाईल में आसानी से अपलोड कर सकते है।

RENDOM ACCESS MEMORY ME COMPUTER हो या मोबाईल में कोई भी डाकूमेंट असानी से नही कर सकते हैं इसलिए यह मेमोरी बहुत कम एक्सेस कर सकते है।

कम्प्यूटर के लिए RENDOM ACCESS MEMORY, AND , RAM) Memory सबसे डेटा स्टोर करने के लिए रैम को जब तक डेआ बना रहता है जब तक रैम को पाॅवर सप्लाई मिलता रहता है।

(ROM) Memory में कोई भी डेटाॅ स्टोर करने के बाद APPLICATION video, audio आदि डेटा अपलोड करने के बाद वह Data Cut व डिलिट हो जोने के बाद भी वह स्टोर रहता है।

रैम की स्पीड बहुत होती हैं किन्तु उनका स्टोर किया गया Hang Hota Hai जबकि (ROM) Memory में डाऊनलोड करते हैं तो वह कितनी भी बड़ी हो वह असानी से चलता है। इस प्रकार से हम रैम और रोम के बारे में जानकारी ले सकते हैं।

अंतिम शब्द

RAM Aur Rom Kya Hai? रैम और रोम में अंतर इस लेख से संबंधित हमने पूरी जानकारी दी है हमें उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होंगे इस लेख से संबंधित आपके मन में कोई सवाल या कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

RAM Aur Rom Kya Hai? रैम और रोम में अंतर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top