भारतीय संविधान के बारे में महत्वपूर्ण तथ्यों | हिंदी में जानकारी

प्रत्येक देश का अपना एक विशिष्ठ संविधान होता है जो उस देश की शासन व्यवस्था भारतीय संविधान के बारे में महत्वपूर्ण तथ्यों के आधारभूत नियमों और सिद्धान्तों का एक संग्रह होता है.

हर देश अपनी आवश्यकतायों व परिस्थितियों के अनुसार अपने संविधान का निर्माण करता है. संविधान आधारभूत नियमों का संग्रह मात्र नही है, वरन उस राष्ट्र के मूल उद्देश्यों व प्राथमिकताओं का खाका एवं शासन तंत्र को गठित करने की व्यवस्था और उसकी सीमाओं व मर्यादाओं को निर्धारित करने वाला दस्तावेज है जिसका उपयोग करके देश की सरकार जनता की समस्याओं का समाधान करती है.

भारतीय संविधान के बारे में महत्वपूर्ण तथ्यों

रोचक तथ्य भारतीय संविधान के बारे में 2021
डिटेल्स Important facts about Indian Constitution
चेक करें लेटेस्ट फैक्ट्स इन हिंदी
भारतीय संविधान के 19 महत्वपूर्ण तथ्य सूची:-

1. विश्व का सबसे बड़ा संविधान

2. लिखित एवं निर्मित संविधान

3. भारतीय संविधान में विभिन्न संविधानो का समावेश

4. भारत के संविधान अलग से प्रस्तावना

5. लचीलापन और कठोर का संविधान में सामंजस्य

6. आपातकालीन प्रावधान

7. संपूर्ण प्रभुत्व संपन्न राज्य

8. त्रिस्तरीय सरकार

9. राज्य के निति निर्देशक सिद्धांत

10. एकल नागरिकता

11. मौलिक अधिकार

12. लोकतंत्रात्मक गणराज्य

13. सरकार का संसदीय रूप

14. सार्वभौम वयस्क मताधिकार

15. धर्मनिरपेक्ष राज्य

16. मौलिक कर्तव्य

17. एकीकृत न्याय प्रणाली

18. संघात्मक व्यवस्था एवं एकात्मक व्यवस्था का समन्वय

19. स्वतंत्र निकाय

संविधान सभा का गठन और काम के तरीके:-

द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद 1946 में ब्रिटिश सरकार ने लार्ड पेथिक लारेंस की अध्यक्षता में एक समिति यह पता करने के लिए भारत भेजी कि स्वतंत्र भारत में शासन व्यवस्था कैसी होगी और नए संविधान निर्माण की प्रक्रिया क्या होगी? एक प्रबल सुझाव यह था कि सभी वयस्कों के मताधिकार द्वारा संविधान सभा का गठन हो लेकिन बहुत से लोगों को लगा की इसमे समय अधिक लगेगा और संविधान सभा के गठन को टला नहीं जा सकता है. समिति ने व्यापक विचार विमर्ष करके सुझाया कि 1935 के नियमो के आधार पर चुनी गई प्रांतीय विधान सभाओं का उपयोग निर्वाचक मण्डल के रूप में किया जाए. यानि सीधे नए चुनाव न कराकर पहले से चुनी गई प्रांतीय सभाओं ने प्रतिनिधि चुनकर संविधान सभा का गठन किया.

संविधान का कार्य क्या है?

संविधान का कार्य सरकार द्वारा नागरिकों पर लागू किए जाने वाले अधिनियमों या कानूनों की सीमा निश्चित करना. ये सीमाएँ ऐसी होती है की सरकार भी उनका उल्लंघन न करे, जैसे मौलिक अधिकार.

हमें संविधान की आवश्यकता क्यों पड़ी:-

अपने सीमित अर्थ में, संविधान मुलभुत नियमों या प्रावधान का एक ऐसा समूह है जो राज्य के गठन और उसके तहत शासन प्रणाली को निर्धारित करता है. एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में माना जाता है कि समाज के लोग मिलकर अपने हितों के लिए राज्य का निर्माण करते है और वे अपने जीवन को संचालित करने के कुछ अधिकारों को राज्य सौंप देते है ताकि सामूहिक जीवन सुचारू रूप से चल सके.

हॉलीवुड हिंदी डब्ड मूवी ऑनलाइन डाउनलोड

Leave a Comment