इंजीनियर कैसे बने: क्या, कितने प्रकार और सब्जेक्ट के बारे में

इंजीनियर कैसे बने: क्या, कितने प्रकार और सब्जेक्ट के बारे में

पढ़ाई करने के बाद सोच रहें है कि इंजीनियर कैसे बने तो क्लिक करें जाने तमाम विकिपीडिया अपडेट. Engineer क्या होता है जो शख़्स इंजीनियरिंग पुलों, सुरंगों, सड़कों, वाहनों और इमारतों सहित मशीनों, संरचनाओं और अन्य वस्तुओं के डिजाइन और निर्माण के लिए कार्य में लगा हो.

हर कोई सरकारी ऑफिसर बनने की चाहते रखते है जैसे CMO कैसे बने, डिप्टी कलेक्टर कैसे बने और अन्य कम उम्र में Ca कैसे बने अगर आप इंजीनियर के बारे में पूरी जानकारी पढ़ना है तो सही पेज पर विजिट किये है क्योंकि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित हो सकती है.

तमाम सवालों के जवाब यहां जानें:-

भारतीय अभियंता से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले सवाल के जवाब आप नीचे अवलोकन कर सकते हैं:-

टेक्नोलॉजी क्या है: आशय, भेद, यूज़, हानि एवं लाभ
इंजीनियरिंग क्या है?

इंजीनियरिंग 12 वीं कक्षा के बाद, छात्र किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से बी.टेक में स्नातक की पढ़ाई करते हैं. इंजीनियरिंग वहीं से शुरू होती है, इंजीनियर बनने के लिए एक छात्र के पास 3 साल के लिए डिग्री या डिप्लोमा होना चाहिए, उसके बाद छात्र को जो भी विषय अधिक पसंद होता है, वह ग्रेजुएशन के बाद उस विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन करता है. उसके बाद छात्र को इंजीनियर कहा जाएगा, इसके अलावा अगर किसी छात्र को डेवलपमेंट रिसर्च करना पसंद है तो वह छात्र पीएचडी भी कर सकता है.

इंजीनियर कैसे बने?

इंजीनियर बनने के लिए 12वीं के बाद छात्र किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से ग्रेजुएशन कर सकते हैं, जिसे इंजीनियर बनने की शुरुआत माना जाता है. इंजीनियरिंग कोर्स, किसी भी छात्र के पास कम से कम 3 साल की डिग्री या डिप्लोमा होना चाहिए.

इंजीनियरिंग के प्रकार क्या-क्या है?

छात्र इंजीनियरिंग करने के बारे में सोचते हैं, लेकिन कुछ छात्रों को यह नहीं पता होता है कि इंजीनियरिंग कितने प्रकार की होती है? और आपको यह भी बता दें कि इंजीनियरिंग के अंदर बहुत सारे प्रकार होते हैं, जिनमें से कुछ छात्रों को नाम तक नहीं पता होता है. सबसे बड़ी समस्या तब आती है जब छात्र को समझ नहीं आता कि किससे ग्रेजुएशन किया जाए. तो आज हम बात करेंगे सबसे इंजीनियरिंग क्षेत्र की, साथ ही बात करेंगे उन क्षेत्रों के बारे में जिनके बारे में आप लोग बहुत कम जानते हैं या कुछ भी नहीं.

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग: सबसे ज्यादा लोग इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में काम करते है घर से लेकर कोई भी बड़ी कंपनी, नासा से लेकर चांद तक हर जगह इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग काम करती है. तो हम कह सकते हैं कि अगर किसी ने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की है तो उसके पास कई विकल्प उपलब्ध होंगे.

कंप्यूटर इंजीनियरिंग: 21वीं सदी में कंप्यूटर शब्द हर किसी के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण हो गया है. आइए अब आपको बताते हैं कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग क्या है. कंप्यूटर हर दिन किसी न किसी तरह से उपयोगी होते हैं. यह स्कूल, कॉलेज, ऑफिस, अस्पताल, अंतरिक्ष केंद्र आदि हर जगह उपयोगी है. इसे पढ़ने के बाद, यदि आपने कंप्यूटर इंजीनियर बनने का मन बना लिया है, तो आपका निर्णय बिल्कुल सही है. साथ ही कंप्यूटर के उपयोग को देखते हुए हम कह सकते हैं कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग में काफी स्कोप है.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग: आपको नाम से ही अंदाजा हो जाना चाहिए कि मैकेनिकल इंजीनियरिंग क्या है? मशीनों से प्यार करने वालों के लिए मैकेनिकल इंजीनियरिंग सही करियर विकल्प है. इस क्षेत्र में आपको मशीनों के बारे में सब कुछ सिखाया जाएगा और आप हर समय मशीनों से घिरे रहेंगे. आजकल मैकेनिकल इंजीनियरिंग सबसे ज्यादा चर्चा में है. तो यह विकल्प उस व्यक्ति के लिए सबसे अच्छा है जो मशीनों से प्यार करता है.

सिविल इंजीनियरिंग: अब हम आपको बताते हैं कि सिविल इंजीनियरिंग क्या है. जो कोई भी इंजीनियरिंग करता है, उसका पहला विकल्प ज्यादातर सिविल इंजीनियर बनना होता है. सिविल इंजीनियर सरकार के तहत काम करता है. जब भी सरकार को कोई निर्माण करना होता है. एक सिविल इंजीनियर की नौकरी पूरी कार्य नीति को समाप्त होने के समय से बनाने की जिम्मेदारी होती है. इसके लिए उम्मीदवार को गणित और भौतिकी में 4 साल का कोर्स करना होगा.

इंजीनियरिंग के लिए टॉप 10 कॉलेज इन इंडिया?

इंजीनियरिंग के लिए टॉप 10 कॉलेज ये है:- भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी
बिरला प्रौद्योगिकी संस्थान, पिलानी
दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, दिल्ली
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, धनबाद
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, इंदौर
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बॉम्बे
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर.

इंजीनियर बनने के लिए 10वी के बाद कौन सा सब्जेक्ट चुने?

इंजीनियर बनने के लिए आपको 10वी के बाद मैथ का सब्जेक्ट चुनना आवश्यक है.

बी. टेक इंजीनियरिंग के बाद क्या करें?

बी. टेक इंजीनियरिंग के बाद एम. टेक करें, एमबीए करें, सिविल सर्विसेज के लिए तैयारी करें या चाहे तो आप खुद का बिज़नेस स्टार्ट कर सकते है.

क्या आप Top Best People Like It Blog पढ़ना चाहते है तो नीचे दिए गए डाउनलोड के बटन पर क्लिक करें.

ध्यान दें: डाउनलोड बटन को अनलॉक करने के लिए व्हाट्सएप पर शेयर कीजिए

Live Cricket Match Kaise Dekhe free mein?

Leave a Comment