सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने: योग्यता, सैलरी और अन्य अपडेट

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने: योग्यता, सैलरी और अन्य अपडेट

टेक्नोलॉजी के बढ़ते कदम युवाओं को तेजी से कंप्यूटर और इंटरनेट की दुनिया की ओर खींच रहे हैं. कई छात्र कंप्यूटर में इतने रुचि रखते हैं कि वे कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहते हैं, फिर मोबाइल इंजीनियर बनना चाहते हैं, जबकि कई छात्र सॉफ्टवेयर इंजीनियर भी बनना चाहते हैं.

सॉफ्टवेयर के विकास और उसके दृष्टिकोण का व्यवस्थित अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने काम होता. क्या आप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना कैरियर बनना चाहते है तो यह लेख आप जरूर पठन करें.

सॉफ्टवेयर इंजीनियर को सॉफ्टवेयर डेवलपर के रूप में भी जाना जाता है. अगर आप भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं कि सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग क्या है और सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए क्या-क्या पढ़ाई करनी पड़ती है और इसके लिए क्या योग्यताएं होनी चाहिए.

साइंस का टीचर कैसे बने

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? यह जानने से पहले आपके लिए यह जानना जरूरी है कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या होता है और सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या करता है. दरअसल, एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर वह व्यक्ति होता है जो कंप्यूटर मशीन सॉफ्टवेयर प्रोग्राम और कार्यों को सुधारने और बनाने का काम करता है. उन्हें सॉफ्टवेयर इंजीनियर कहा जाता है.

अगर आपको यह काम पसंद है यानि आपकी रुचि कंप्यूटर, मोबाइल और अन्य इलेक्ट्रॉनिक चीजों में है तो आप इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं. इसके लिए आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग पाथ करना होगा. तो आपके लिए यह भी जानना जरूरी है कि सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग क्या है? आइए जानते हैं

सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या है

सॉफ्टवेयर उपयोगकर्ताओं की आवश्यकताओं का निरीक्षण, सॉफ्टवेयर प्रोग्राम डिजाइनिंग, निर्माण और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम ऐप चेक आउट विधि को सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कहा जाता है. यह सॉफ्टवेयर के विकास, संचालन और रखरखाव के लिए एक गणना योग्य तरीका है.

इंजीनियर कैसे बने

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, यानि इंजीनियरिंग जिसमें कंप्यूटर सिस्टम और कई अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए सॉफ्टवेयर बनाया जाता है. सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में काम करने वाले लोग कंप्यूटर, लैपटॉप जैसी तकनीक से बनी चीजों से जुड़े होते हैं. उन्हें सॉफ्टवेयर इंजीनियर कहा जाता है. सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग एक ऐसा विषय है जो आज 50% युवाओं की पसंद बन गया है.

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में आपको लैपटॉप सिस्टम, सॉफ्टवेयर प्रोग्राम प्रोडक्ट अपडेटेड, आवश्यकताएं, सिस्टम एनालिसिस, सिस्टम डिजाइन, कोड डिजाइन, डिप्लॉयमेंट आदि के बारे में पढ़ाया जाता है. ज्यादातर छात्र सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं.

अगर आप भी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं, तो आपको कंप्यूटर सिस्टम, कोडिंग और कंप्यूटर भाषा का पूरा ज्ञान होना चाहिए. आपको कंप्यूटर के बारे में ज्ञान प्राप्त करना होगा, साथ ही कई क्षमताएं जो एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर में पाई जाती हैं. सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए सबसे पहले आपको कंप्यूटर की भाषा सीखनी होगी.

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता: सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए उम्मीदवार को फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स विषयों में 50% अंकों के साथ 12वीं पास होना जरूरी है. उसके बाद आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए उस कॉलेज की प्रवेश परीक्षा अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण करनी होती है. तभी आपको किसी भी सरकारी विश्वविद्यालय में प्रवेश मिलेगा. नहीं तो आपको किसी प्राइवेट कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स करना होगा जिसकी फीस बहुत ज्यादा होगी.

अच्छे इंसान कैसे बने

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए सबसे पहले आपको कंप्यूटर की भाषा सीखनी होगी. साथ ही आपको उस भाषा का भी ज्ञान होना चाहिए जिसमें सॉफ्टवेयर बनाया जाता है. सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के कोर्स में आपको ये सभी भाषाएं सिखाई जाती हैं जो इस प्रकार हैं.

सी भाषा
सी++ भाषा
MATLAB (कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भाषा)
(।)नेट
जावा
एसक्यूएल
रूबी
पाइथन

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के तहत पेश किए जाने वाले कॉलेज:-  

बी.टेक – बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (सीएस, आईटी)
बी.सी.ए. – बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन
बीएससी – बैचलर ऑफ साइंस (सीएस)
पॉलिटेक्निक डिप्लोमा (कंप्यूटर साइंस)

टीचर कैसे बने सरकारी

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कॉलेज: यहां हमने आपको कई सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग यूनिवर्सिटी के बारे में भी बताया है यह कोर्स आप अपनी पसंद के कॉलेज से कर सकते हैं:-

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय
नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली
मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई
लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी
देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंदौर
गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली
ऑक्सफोर्ड कॉलेज ऑफ साइंस, बैंगलोर,
नालंदा मुक्त विश्वविद्यालय

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के विषय

एक हफ्ते में स्टाइलिश कैसे बने


कंप्यूटर प्रोग्रामिंग
कंप्यूटिंग के लिए परिचय
कंप्यूटिंग के लिए शैक्षणिक कौशल
कंप्यूटिंग के लिए गणित
कंप्यूटर आर्किटेक्चर
कार्यक्रम डिजाइन
नेटवर्किंग
व्यावसायिक जागरूकता
डीबीएमएस (डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली)
हार्डवेयर की बुनियादी बातें

सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी (Salary of a Software Engineer)

संबंधित नौकरियां और औसत वेतन:

जूनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर – 2 से 3 लाख प्रति वर्ष
एंट्री लेवल सॉफ्टवेयर इंजीनियर – 4 से 5 लाख प्रति वर्ष
सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर – 7 से 8 लाख प्रति वर्ष
प्रिंसिपल सॉफ्टवेयर इंजीनियर – तेरह से 14 लाख प्रति वर्ष तक हो सकता है.

मुंबई में एक्टर कैसे बने

क्या आप टॉप बेस्ट लाइक इट ब्लॉग पढ़ना चाहते है तो नीचे दिए गए डाउनलोड के बटन पर क्लिक करें.

ध्यान दें: डाउनलोड बटन को अनलॉक करने के लिए व्हाट्सएप पर शेयर कीजिए

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने: योग्यता, सैलरी और अन्य अपडेट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top