CMO कैसे बनें मुख्य चिकित्सा अधिकारी कैसे बने

Chief Medical Officer Kaise Bane, How to Become Chief Medical Officer in हिंदी CMO Kaise Bane मुख्य चिकित्सा अधिकारी (Chief Medical Offer) स्वास्थ्य विभाग में नियुक्त होने वाला वरिष्ठ अधिकारी होता है सीएमओ को जिला स्तर पर नियुक्त किया जाता है और यहां जिले का चिकित्सा विभाग में हेड होता है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी का कार्य मुख्य रूप से जिला स्तर पर स्वास्थ्य सुविधाओं की देखरेख के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम को भी ध्यान में रखना होता है। सीएमओ का कार्य बड़े जिम्मेदारी होता है और यहां बड़े सूझबूझ के साथ करना होता है।

CMO कैसे बनें । मुख्य चिकित्सा अधिकारी कैसे बने
Chief Medical Officer Kaise Bane

चीफ मेडिकल ऑफिसर का कार्य जिले के विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों उप स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत डॉक्टरों और स्टाफ नर्स कर्मचारी को स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाने वाली रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न गतिविधियों और आने वाले नए सुविधाओं के बारे में प्रबंधन करना होता है।

सीएमओ का फुल फॉर्म हिंदी में

स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत जिले के मुख्य अधिकारी को सीएमओ कहते हैं और सीएमओ का फुल फॉर्म हिंदी में मुख्य चिकित्सा अधिकारी होता है जिसे शार्ट में CMO कहा जाता है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी कैसे बने Chief Medical Offer (CMO) Kaise Bane

अगर आप चीफ मेडिकल ऑफिसर बनना चाहते हैं के लिए कोई डिग्री या फिर कोई डिप्लोमा करने की आवश्यकता नहीं होती है जी हां आपने सही पड़े हैं चीफ मेडिकल ऑफिसर बनने के लिए आपको एमबीबीएस की पढ़ाई करना होता है साथ-साथ आपको स्वास्थ्य विभाग में कुछ वर्षों तक मेडिकल ऑफिसर का नौकरी करना होता है फिर उसके बाद आप को मुख्य चिकित्सा अधिकारी के रूप में कोई भी जिले में नियुक्त की जाती है।

12वीं में विज्ञान विषय का चयन करें

चिकित्सा विभाग में अगर आप जाना चाहते हैं तो आपको शुरुआत से ही 12वीं विज्ञान विषय लेकर पढ़ाई करना होगा। विज्ञान विषय में न्यूनतम 50% से लेकर 60% अंक लाना होगा फिर उसके पश्चात एमबीबीएस परीक्षा के लिए कंपटीशन एग्जाम फाइट करना होगा।

प्रवेश परीक्षा NEET Entrance दिलाएं

12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद नीट प्रवेश एग्जाम की तैयारी करना होगा ध्यान रहे अगर आपने नीट की प्रवेश परीक्षा दे रहे हैं तो यहां परीक्षा पूरे देश में आयोजित की जाती है और इसमें आपको थोड़ी बहुत कठिनाई भी हो सकती है इसलिए आपको तैयारी के वक्त विभिन्न चीजों को ध्यान में रखकर नीट प्रवेश परीक्षा दिलाना होगा।

आईपीएल (IPL) क्या है ? IPL कौन करवात है

एंट्रेंस एग्जाम हेतु आवेदन

नीट प्रवेश परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन अप्लाई करना होता है ऑनलाइन अगर आप खुद से कर सकते हैं तो आप कुछ पैसों की बचत कर सकते हैं या फिर आप कोई ऑनलाइन सेंटर में जाकर नीट प्रवेश परीक्षा हेतु फार्म अप्लाई कर सकते हैं सरकारी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस हेतु नीट का प्रवेश परीक्षा आवश्यक होता है।

सीएमओ बनने के लिए महत्वपूर्ण टिप्स

1. अभ्यर्थी को सबसे पहले अच्छे अंकों के साथ फिजिक्स केमिस्ट्री और बायो लॉजी में 50 से 60% अंक 12वीं में अर्जित करना होगा।

2. 12वीं परीक्षा के बाद नेट परीक्षा के लिए एंट्रेंस एग्जाम का तैयारी करें।

3. एमबीबीएस की परीक्षा कंप्लीट करने के पश्चात यूपीएससी सीएमएस जैसी परीक्षाओं हेतु आवेदन अप्लाई करें।

4. यूपीएससी सीएमएस परीक्षा में सफल होने के पश्चात आपको मेडिकल ऑफिसर के रूप में कुछ सालों की जॉब करना होगा।

5. बेहतर प्रदर्शन और अनुभव के आधार पर चीफ मेडिकल ऑफिसर पद पर प्रमोशन किया जाता है।

6. मेडिकल ऑफिसर की जॉब के दौरान हमेशा ध्यान रखें कि हमेशा बेहतर प्रदर्शन करें और सूझबूझ के साथ काम करें ताकि आपका प्रमोशन का चांस ज्यादा से ज्यादा हो।

7.  मेडिकल ऑफिसर बनने के लिए अंत में यही कहना चाहूंगा कि आप का वर्क ही आपको चीफ मेडिकल ऑफिसर की नौकरी दिला सकता है।

अंतिम शब्द

Chief medical officer kaise bane ? मुख्य चिकित्सा अधिकारी कैसे बने इस लेख से संबंधित हमने पूरी जानकारी दी है हमें उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होंगे इस लेख से संबंधित आपके मन में कोई सवाल या कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment